भारत सरकार ने TIK TOK समेत 59 एप्स को बैन किया # TIK TOK BAN - Apnadaily

अपनाडेली एक हिन्दी न्यूज ब्लॉग हैं। हमारा उद्देश्य हिन्दी को बढ़ावा देना और लोगों को जानकारी देना हैं। हिन्दी मे सभी प्रकार की जानकारी पाने के लिए हमसे जरूर जुड़े।

IFRAME SYNC

मंगलवार, 30 जून 2020

भारत सरकार ने TIK TOK समेत 59 एप्स को बैन किया # TIK TOK BAN

भारत-चीन बॉर्डर विवाद

भारत और चीन के बीच बॉर्डर को लेकर तनाव जारी हैं प्रतिबंध इस साल 15 जून को उत्तरी भारत में लद्दाख के क्षेत्र में चीनी सेना के साथ भारतीय सेना के टकराव के बाद आया है। इस झड़प में कम से कम 20 भारतीय सैनिक मारे गए, और 75 से अधिक घायल हुए। वही चीन अपने सैनिकों को लेकर कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दे रहा हैं भारतीय सूत्रों के अनुसार चीन के लगभग 40 से अधिक सैनिक मारे गए थे 
https://www.google.com/search?rlz=1C1CHNY_enIN907IN907&sxsrf=ALeKk00mNpf7mwUQs-wk7qkyUDM6J25YYg%3A1593532048760&ei=kF77XtncLcaImwWRvLWgCQ&q=chinese+app+ban&oq=CHINE&gs_lcp=CgZwc3ktYWIQARgAMgQIIxAnMgQIIxAnMgQIABBDMgUIABDLATIFCAAQywEyBQgAEIMBMgUIABDLATIFCAAQywEyBQgAEMsBMgUIABDLAToHCCMQ6gIQJzoFCAAQsQM6BwgAEIMBEEM6BggAEAoQQ1DFcViTfGC_kAFoAXAAeACAAfkGiAHjGZIBBTUtNC4xmAEAoAEBqgEHZ3dzLXdperABCg&sclient=psy-ab
TIK TOK BAN



बैन करने का मुख्य कारण

प्रतिबंध इस साल 15 जून को उत्तरी भारत में लद्दाख के क्षेत्र में चीनी सेना के साथ भारतीय सेना के टकराव के बाद आया है। इस झड़प में कम से कम 20 भारतीय सैनिक मारे गए, और 75 से अधिक घायल हुए।
नई दिल्ली सरकार का तर्क है कि 59 ऐप का उपयोग भारतीय उपयोगकर्ताओं पर डेटा एकत्र करने के लिए किया गया है, डेटा जो चीन में सर्वर पर वापस भेजा गया है।

भारतीय अधिकारियों ने कहा कि उनका मानना है कि डेटा का खनन किया गया है और इसका उपयोग भारतीय उपयोगकर्ताओं को "भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा" के लिए शत्रुतापूर्ण है।
भारत सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा के आधार पर आज 59 चीनी मोबाइल एप्लिकेशन पर प्रतिबंध लगा दिया है।

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, जिसने आज प्रतिबंध को अधिकृत किया, ने कहा कि उसे गृह मंत्रालय के भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र से 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के लिए "संपूर्ण सिफारिश" मिली।

इसके अलावा, मंत्रालय ने यह भी कहा कि भारत की कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT-IN) को भी प्रतिबंधित ऐप्स की गोपनीयता और सुरक्षा के बारे में उपयोगकर्ताओं से शिकायतें मिली हैं। वर्तमान में यह स्पष्ट नहीं है कि तकनीकी स्तर पर प्रतिबंध से भारत सरकार कैसे आगे बढ़ेगी। एप्लिकेशन अभी भी ऐप स्टोर पर उपलब्ध हैं, और वे अभी भी देश के अंदर काम कर रहे हैं, लेखन के समय। यह स्पष्ट नहीं है कि नई दिल्ली सरकार ऐप स्टोर को अपने स्थानीय भारतीय स्टोर से ऐप हटाने के लिए कहेगी, या सरकार ऐप के डोमेन को ब्लॉक करने के लिए स्थानीय आईएसपी का उपयोग करेगी या नहीं। राष्ट्रीय स्तर के ऐप बैन आमतौर पर लागू करने के लिए अविश्वसनीय रूप से कठिन होते हैं। रूस ने हाल ही में दो साल के प्रतिबंध के बाद टेलीग्राम ऐप को "औपचारिक रूप से" प्रतिबंधित कर दिया है, हालांकि, ऐप ने देश के अंदर काम करना कभी बंद नहीं किया है, टेलीग्राम टीम हमेशा क्रेमलिन के आईएसपी-स्तरीय प्रतिबंध को दरकिनार करने के लिए नए तरीके खोज रही है।

59 चीनी एप्स जो बैन कर दिए गए हैं

1. TikTok
2. Shareit
3. Kwai
4. UC Browser
5. Baidu map
6. Shein
7. Clash of Kings
8. DU battery saver
9. Helo
10. Likee
11. YouCam makeup
12. Mi Community
13. CM Browers
14. Virus Cleaner
15. APUS Browser
16. ROMWE
17. Club Factory
18. Newsdog
19. Beutry Plus
20. WeChat
21. UC News
22. QQ Mail
23. Weibo
24. Xender
25. QQ Music
26. QQ Newsfeed
27. Bigo Live
28. SelfieCity
29. Mail Mast .

कुछ बड़े एप्स का विकल्प

Tik tok, Likee, helo - chingari, sharechat

Shareit, xender- Files Go,Z Share – Desi File Sharing App, jio share

UC Browser- Bharat broser, Mcent browser

YouCam makeup, Beutry Plus-  Photoshop Express, PicsArt, Photo Studio

Club Factory-Myntra, flipcart, Amazon


फायदे

1.  डाटा सुरक्षित रहेगी
2. ‘‘मैक इन इंडिया’’ एप को समर्थन मिलेगा
3. चीन को आर्थिक रूप से क्षति
4. आत्मनिर्भरता बढ़ेगी

 नुकसान

1. भारत के पास की एप के विकल्प अभी नहीं हैं
2. कुछ लोगों की नौकरी भी जाएगी

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

please do not enter any spam comment in comment box.

Pages